श्रीमद्भागवत में बताया शुभम् महाराज ने भागवत का मर्म

0
95

-श्री हनुमान जी (बालाजी) महाराज महाराज के 44 वें वार्षिकोत्सव की धूम


*हाथरस।* सादाबाद गेट स्थित हनुमान जी (बालाजी) महाराज के 44 वें वार्षिकोत्सव पर तीसरे दिन हवन-यज्ञ के साथ श्रीमद्भागवत का शोभायात्रा के साथ शुभारंभ हुआ। जबकि बीती रात कन्हैयालाल मंडल के कीर्तन में जमकर हनुमानजी और कन्हैयालाल के जयघोष हुए।
विदित हो कि इन दिनों सादाबाद गेट स्थित स्थित हनुमान जी (बालाजी) महाराज का 44 वां वार्षिकोत्सव मनाया जा रहा है। जो 14 दिसंबर शनिवार से रामचरित मानस पाठ के साथ आरंभ हुआ था। 15 दिसंबर कसे अखंड पाठ का समापन हुआ और सायं ठा.कन्हैयालाल जी महाराज कीर्तन मंडल की हरिनाम संकीर्तन का ऐसा समा बंधा की देर रात तम भक्तों ने जमकर प्रभुनाम का लुत्फ उठाया। दूसरी ओर सोमवार 16 दिसंबर को मंदिर परिसर से भव्य शोभायात्रा निकाली गई। जो शहर के मुख्य बाजारों में भ्रमण के बाद पुनः  श्री हनुमान जी (बालाजी) महाराज मंदिर पर आकर संपन्न हुई।
इस मौके पर भागवता चार्य पं.शुभव शात्री ने श्रीमद् भागवत के महात्व पर चर्चा की और भागवत का मर्म बताया। भागवत कथा क्यों सुननी चाहिए और इसका क्या प्रतिफल होता है। परिक्षित प्रसंग के दौरान श्रद्धालुओं की एकाग्रता देखते ही बन रही थी।
इस मौके पर मुख्य रूप से प्रचारक त्रिलोकीनाथ शर्मा, नवीन वाष्र्णेय, प्रवीन वाष्र्णेय, आरपी शर्मा, संजय चैधरी, गौतम जी, दिनेश कुमार व संयोजक संजीव पंड़ित आदि का सहयोग सराहनीय रहा।

Hits: 15

[supsystic-gallery id=6] [supsystic-gallery id=5]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here