मिलावटी मसाले..? मौत को दावत..!

0
130

-मुख्यालय से आई मसालों की रिपोर्ट ने चौकाया, 25 नमूने निकले अनसेफ 

-दीपावली के समय खाद्य सुरक्षा विभाग ने चलाया था अभियान 

-जयसिंहपुरा, लालागंज एवं अन्य स्थानों से भरे गए थे 32 मसालों के नमूने

-मसालों में मिले सेहत को नुकसान पहुंचाने वाले लेड क्रोमेट, पोटैशियम क्रोमेट, सूडान  रंग

 

मथुरा। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा पिछले दिनों दीपावली के समय चलाए गए अभियान के दौरान टीम ने मसालों के 32 नमूने भरे थे। मुख्यालय से आई जांच रिपोर्ट में 25 नमूने अनसेफ निकले हैं। अखाद्य रंग की मिलावट होने पर यह मसाले खाने योग्य नहीं थे। इस रिपोर्ट ने सभी को चौंका दिया है। अभिहित अधिकारी लम्बे समय से मिलावटी मसालों के खिलाफ अभियान छेड़े हुए हैं। वहीं डीएम सर्वज्ञराम मिश्र को भी अवगत कराया गया है।  

 डीएम सर्वज्ञराम मिश्र के निर्देश पर खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन मथुरा की टीम ने  जयसिंह पुरा तथा कोतवाली रोड लालागंज व अन्य स्थानों से 32 नमूने लिए गए थे।  मुख्यालय से प्राप्त  रिपोर्ट के अनुसार मसालों में अखाद्य रंग यानि नुकसानदेय रंगों की मिलावट पाई गई है। यह नमूने विशेष रुप से जयसिंह पुरा चक्की वाली गली से जाकिर हुसैन पुत्र गनी मोहम्मद तथा रावल हुसैन पुत्र गनी मोहम्मद की मसाला चक्की से संग्रहित किए गए थे।  पिसी लाल मिर्च के तीन, पिसी हल्दी के तीन, साबुत हल्दी के दो, पीली मिर्च के दो, काली मिर्च का एक, खटाई के दो  तथा अप मिश्रक के रूप में मुल्तानी मिट्टी, चावल भूसी के नमूने लिए गए थे। जिस समय जयसिंह पुरा में छापेमारी कार्रवाई की गई थी उसी समय यह संज्ञान में आया के मसालों की सप्लाई कोतवाली रोड लालगंज मथुरा में कुछ प्रतिष्ठित दुकानों के यहां बिक्री हो रही है। इस पर टीम ने अगले ही दिन लालागंज में छापेमारी की और वहां से लिए गए नमूनों में समान रूप से खतरनाक रंगों की मिलावट पाई गई। उपरोक्त  दोनों स्थानों पर कुल मिलाकर लगभग 32 नमूने किए गए जिसमें से 25 नमूने में जहरीले पदार्थों में जैसे लेड क्रोमेट पोटैशियम क्रोमेट सूडान  रंगों की मिलावट  मिली है। जांच रिपोर्ट ने खाद्य सुरक्षा अफसरों को भी चौंका दिया है और उन्हें सोचने पर मजबूर कर दिया है। मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी वीके राठी के अनुसार मिलावट के खिलाफ अभियान जारी रहेगा।  


टीम में यह थे मौजूद 

-खाद्य सुरक्षा अधिकारी मुकेश कुमार,एसएस निरंजन, डा.शैलेन्द्र रावत,देवराज सिंह,मनीषा,नंद किशोर,सोमनाथ आदि मौजूद थे। 

दूध नमूना फेल पर जुर्माना, सजा 

मथुरा खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा पूर्व में लिए गए नमूनों पर अपर न्यायिक प्रथम ने खड़क सिंह पुत्र दुलीजन सिंह निवासी झुडावई थाना फरह पर दो हजार जुर्माना तथा दो वर्ष का कारावास की सजा सुनाई है। दूध का सैंपल फेल आया था।


क्या कहते हैं अधिकारी-

पूर्व में दीपावली के समय मसालों के 32 नमूने भरे गए थे,जिसमें से 25 की रिपोर्ट अनसेफ आई है। खाद्य पदार्थ की रिपोट यदि अनसेफ आती है। तीन साल,छह साल, आजीवन सजा का प्रावधान है। मिलावट में 10 लाख तक का जुर्माना है। भगवान श्रीकृष्ण की नगरी में मिलावटी मसाले एवं मिलावटी खाद्य पदार्थ किसी कीमत पर बिकने नहीं दिए जाएंगे। मिलावट खोरों पर लगातार शिकंजा कसने का अभियान चलेगा। सूचना के लिए मुखबिर तंत्र को भी सक्रिय किया गया है।   
चंदन पांडेय,अभिहित अधिकारीखाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग

Hits: 71

[supsystic-gallery id=6] [supsystic-gallery id=5]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here