कोरोना के खिलाफ लड़ रहे हमारे योद्धा

0
81

लखनऊ/आगरा/मथुरा। दहशत के लिए इन दिनों कोरोना का नाम ही काफी है हर आम ओ खास इसके वायरस से बचने के लिए सजग है कोई मास्क लगाए हुए हैं तो कोई घर में ही रहना पसंद कर रहा है। लेकिन इससे हटकर कुछ ऐसे भी हैं जो अपनी परवाह किए बिना इस के संदिग्ध को सरकारी अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में जांच करने ला रहे हैं। यह योद्धा हैं सरकारी एंबुलेंस के चालक और मेडिकल टेक्नीशियन।
मथुरा जिले के 108/102 एंबुलेंस के प्रोग्राम मैनेजर ने बताया कि वैसे तो हम लोगों का काम हमेशा चुनौतीपूर्ण रहता है रोगी की जान बचाने के लिए उसे जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाने का प्रयास रहता है लेकिन कोरोना के शोर में यह चुनौती और बढ़ जाती है हमें खुद को सुरक्षित रखते हुए संदिग्ध को अस्पताल पहुंचाना होता है। मथुरा जिले में सभी एंबुलेंस ओं को स्वास्थ्य विभाग के द्वारा किट मार्क्स और दस्ताने उपलब्ध कराए गए हैं।
मथुरा जिले के प्रोग्राम मैनेजर लगातार अपने टीम के संपर्क में 24 घंटे हैं और अपने सभी पायलट और मेडिकल टेक्नीशियन को यह कहकर उनका मनोबल बढ़ाते हैं की जब पूरी दुनिया को रोना की महामारी से जूझ रही है तब हम और आप किसी की जिंदगी बचाने के काम आ रहे हैं इससे बड़ी बात और क्या हो सकती है।
जब भी कोई संदिग्ध मरीज एंबुलेंस के द्वारा सरकारी हॉस्पिटल में लाया जाता है उसके बाद पायलट और मेडिकल टेक्नीशियन द्वारा जो किट पहनी गई है उसको वापस उतार कर बताए गए यथा स्थान पर नष्ट करने हेतु रख दिया जाता है एक किट एक ही बार प्रयोग में लाई जाती है उसके बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा एंबुलेंस को पूरी तरह सैनिटाइज किया जाता है फिर पुणे उस एंबुलेंस को नई किट के साथ वापस ड्यूटी पर भेज देते हैं।


मथुरा जिले में तीन इमरजेंसी मैनेजमेंट एस्क्यूटी भी हैं जिनके नाम -इनाम उल्ला खान मोबाइल नंबर 7235007734 , स्वदेश बाबू मोबाइल नंबर 7235000338, शशिकांत शर्मा मोबाइल नंबर 7830422903.

मथुरा प्रोग्राम मैनेजर अजय सिंह आगे कहते हैं अगर किसी भी व्यक्ति के द्वारा 102 108 को कॉल करने में किसी भी प्रकार की कठिनाई आती है तो वह सीधे मुझको या फिर हमारे इमरजेंसी मैनेजमेंट एस्क्यूटी से सीधे बात करके एंबुलेंस ओं की सेवा ले सकता है अजय सिंह प्रोग्राम मैनेजर मोबाइल नंबर 9616482444, 7518000726

कोरोना महावारी को देखते हुए प्रोग्राम मैनेजर अजय सिंह को मथुरा जिला के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर शेर सिंह के द्वारा रोगी यातायात का नोडल अधिकारी भी नियुक्त किया गया है जिससे उनकी जिम्मेदारी और भी बढ़ गई है और वह इस जिम्मेदारी को बखूबी निभा भी रहे हैं
मुख्य चिकित्सा अधिकारी के द्वारा 15 अगस्त 2019 को प्रोग्राम मैनेजर अजय सिंह को प्रशस्ति पत्र उनके अच्छे प्रबंधन को देखते हुए दिया जा चुका है।

Hits: 65

[supsystic-gallery id=6] [supsystic-gallery id=5]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here