हेल्थ

कोरोना वायरस के दौर में दंत चिकित्सा मुश्किल के घेरे में

0Shares
  • कोविड-19 के सुरक्षा मानकों का पालन बनी चुनौती

– मरीज के लार में ही सबसे अधिक वायरस की मौजूदगी

सीपी सिकरवार

मथुरा | कोविड-19 यानि कोरोना वायरस के संक्रमण के दौर में दांतों का चेकअप और इलाज करना मुश्किल काम हो गया है।
​दन्त चिकित्सक डॉ. आशीष का कहना है कि कोरोना के मरीजों की लार में वायरस की मौजूदगी करीब 91 फीसद तक हो सकती है । मुंह की समस्या पूरे शरीर को प्रभावित कर सकती है। यही कारण है कि 90 फीसद से अधिक बीमारियों के लक्षण मुंह से ही दिखाई पड़ जाते हैं । इसलिए कोरोना काल में दांतों की समस्या के समाधान के लिए क्लीनिक तक न जाना पड़े। टेलीफोन पर ही जरूरी सलाह लेकर दिक्कत से छुटकारा पा सकते हैं । इसके लिए सरकारी और निजी चिकित्सकों से हेल्पलाइन पर मदद ली जा सकती है ।
इस हेतु “टेली-डेंटिस्टरी” भी शुरू की गयी है| स्मार्टफोन या लैपटॉप के जरिये चिकित्सक से जरूरी सलाह ली जा सकती है ।


बाक्स

दंत रोगियों को कोरोना के दौरान सलाह

दांतों की सुरक्षा के लिए एहतियातन दिन में दो बार ब्रश करना चाहिए । चिपचिपी चीजों जैसे चॉकलेट आदि से दूर रहना चाहिए । गुनगुने पानी में नमक डालकर कुल्ला करना फायदेमंद हो सकता है । बुखार, खांसी या जुकाम है तो चिकित्सक को पहले से ही बता दें । यही छोटी-छोटी सावधानियां बरतकर हम खुद सुरक्षित रहने के साथ ही दूसरों को भी सुरक्षित रख सकते हैं

बाक्स

दंत चिकित्सा से पूर्व क्या बरतें सावधानी

  • क्लीनिक में आने वालों का तापमान मापें
  • भीड़ से बचने के लिए मरीजों का टाइम स्लॉट तय करें
  • चेकअप फिलिंग के दौरान पीपीई किट पहनें
  • इंट्रा ओरल एक्स-रे से बचें
  • एयरोसाल कम से कम करने की तरकीब निकालें
  • थ्री वे सिरिंज का इस्तेमाल कम से कम करें

Hits: 5

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *